Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on email

रोजगार की कोई सुबिधा नहीं डि वाई एफ आई की तरफ से एक रैली

हिन्द संबाद , रानीगंज :औद्योगिक क्षेत्र का प्रदूषण स्थानीय औद्योगिक क्षेत्र का ज़हर लोगो के फेफड़ा में समाहित हो रहा है और रोजगार की कोई सुबिधा नहीं इस लिए डि वाई एफ आई की तरफ से एक रैली निकाली गई जिसका उद्देश्य एकमत था की औद्योगिक क्षेत्र मे स्थानीय युवको को नौकरी देने की मांग पर आज रानीगंज के डालफिन क्लब से वामपंथी संगठन डि वाई एफ आई की तरफ से एक विरोध रैली निकाली गई। रानीगंज ब्लाक डि वाई एफ आई सचिव सागर बैनर्जी की अगुवाई मे निकली इस रैली मे आसनसोल के पूर्व सांसद वंश गोपाल चौधरी रानीगंज के विधायक रुनु दत्ता, सुप्रियो राय, दिव्येदु मुखर्जी, सुनील खंडेलवाल, सोमनाथ चटर्जी, कृष्णा दासगुप्ता सहित तमाम स्थानीय वामपंथी नेता और कार्यकर्ता उपस्थित थे। मंगलवार की रैली के विषय मे हमारे संवाददाता ने सागर बैनर्जी से बात की तो उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल मे जब वामफ्रंट की सरकार थी तब वामपंथी नेताओ ने खेती को आधार मानते हुए औद्योगीकरण की बात कही थी। मंगलपुर औद्योगिक क्षेत्र इसी सोच का नतीजा है। मगर 2011 मे तृणमूल की सरकार बनने के बाद बंगाल मे औद्योगीकरण ठप पड़ गया है। उन्होंने आरोप लगाया कि मंगलपुर मे फिलहाल जो भी कारखाने चल रहे हैं उनमे स्थानीय बेरोजगार युवको को नौकरी नही दी जाती। सागर बैनर्जी का साफ कहना था कि मंगलपुर औद्योगिक क्षेत्र मे जितने भी कारखाने है उनमे रोजगार के मुद्दे पर पहले स्थानीय लोगों को तरजीह देनी होगी। उन्होंने मांग की कि गैर प्रशिक्षित कार्यो के लिए शत प्रतिशत स्थानीय लोगों को नौकरी देनी होगी और प्रशिक्षित कार्यो के लिए योग्यता के आधार पर स्थानीय युवाओं को तरजीह देने की मांग की। सागर बैनर्जी ने कहा कि इन्ही सब मांगो के समर्थन मे डि वाई एफ आई की तरफ से मंगलपुर के आठ कारखानों का घेराव कर उनको ज्ञापन सौंपा जाएगा। उन्होंने साफ कहा कि जब मंगलपुर औद्योगिक क्षेत्र का प्रदूषण स्थानीय लोगों को झेलना पड़ता है तो यहाँ रोजगार भी उन्ही को मिलना चाहिए।

Latest News