Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on email

पूर्व मेदिनीपुर में तृणमूल कांग्रेस और राष्ट्रीय स्वयंसेवक के छात्र संगठन में भीषण संघर्ष

हिन्द संबाद कोलकात. पश्चिम बंगाल के पूर्व मेदिनीपुर जिले में सोमवार को सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) में भीषण संघर्ष हुआ। कई मोटरसाइकिलों को आग लगा दी गई। जमकर बमबाजी हुई। संघर्ष में दोनों पक्ष के कई लोग जख्मी हुए हैं। प्राप्त जानकारी के मुताबिक अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता बाजकुल कॉलेज में अपने पोस्टर व झंडे लगा रहे थे। उसी समय तृणमूल कांग्रेस छात्र परिषद के सदस्यों के साथ किसी बात को लेकर उनकी बहस छिड़ गई, जिसने थोड़ी ही देर में भीषण संघर्ष का रूप ले लिया। दोनों तरफ से बमबाजी शुरू हो गई।कॉलेज परिसर में रखी कई मोटरसाइकिलों को आग के हवाले कर दिया गया। खबर पाकर बड़ी तादाद में पुलिस मौके पर पहुंची और हालात को नियंत्रित किया। इस घटना को लेकर तृणमूल कांग्रेस छात्र परिषद की ओर से कालेज के सामने की सड़क पर पथावरोध किया गया। गौरतलब है कि यह संघर्ष ऐसे समय हुआ है, जब आरएसएस ने बंगाल में कोरोना के कारण पिछले साल मार्च से बंद पड़ी अपनी शाखाओं को फिर से खोलने की प्रक्रिया शुरू की है। आरएसएस ने बंगाल में बंद पड़ी अपनी डेढ़ हजार शाखाओं को मार्च तक खोलने का निर्देश दिया है। आरएसएस ने अपने सदस्यों को नियमित रूप से वहां जाने को भी कहा है। आरएसएस की बढ़ती सक्रियता ही इस संघर्ष की वजह बताई जा रही है क्योंकि विधानसभा चुनाव से पहले तृणमूल का छात्र संगठन भी शक्ति प्रदर्शन में पीछे नहीं रहना चाहता। बंगाल की राजनीति पर करीब से नजर रखने वालों ने विधानसभा चुनाव के नजदीक आने के साथ-साथ बंगाल में सियासी संघर्ष की घटनाएं तेज होने की आशंका जताई है।

Latest News